Real Family Porn Story – आज चोद ले अपनी मौसी की चूत

[ad_1]

Real Family Porn Story

आज जो मैं कहानी आप लोगों को बताने जा रहा हूं वह रियल फॅमिली सेक्स स्टोरी है. यह मेरे साथ हुई सच्ची घटना पर आधारित है. मैंने इसमें कुछ भी असत्य नहीं लिखा है. जो भी मेरे साथ हुआ मैंने वैसे ही बयां किया है. मैं उम्मीद करता हूं कि आपको मेरी इस सेक्स स्टोरी में मजा आयेगा. Real Family Porn Story

चलिए कहानी सुरू करते है मेरा नाम अंकित और मै SSC की तैयारी कर रहा हूँ, मेरी उम्र 23 साल है और मेरी कोई गृलफरैंड भी नही है हमारे घर मे हम 5 सदस्य है पापा, मम्मी, छोटी बहन, और एक छोटा भाई और हमारे साथ ही हमारी मौसी का परिवार भी रही है और मेरी मौसी का नाम रूबी है उनकी उम्र 30 साल की है, उनका रंग सांवला है और फिगर 36 24 36 का है.

मौसी बडी सेक्सी दिखती है उनके तीन बच्चे है और तीनो अभी छोटे है, और उनके पति मजदुरी करते है हमारी मौसी का परिवार मध्यम वर्ग का है ये सब हमारे घर मै ही रहते है हमारा घर दो मंजील का है निचली मंजील पर मौसी रहते है और ऊपरी मंजील पर हम रहते हैं क्योकि उनका घर अभी नही बना है इसलिए वे हमारे साथ ही रहते है अब कहानी पर आते हैं.

उनकी गंड थोडी उभरी हुई है जिसे देखकर मैं पागल सा हो जाता हुँ और फिर मैं उनके नाम की मुठ मारकर अपने आप को शांत कर लेता हुँ मेरा मन उनको चोदने का बहुत करता है पर ये बात उनको कहने मै मेरी बहुत गांड फटती थी कही ये बात वें मेरी मम्मी को न बता दें, इसलीए मै मन मारकर चुप चाप रह जाता हुँ.

मेरा कमरा मौसी के कमरे के ऊपर है ओर इस तरह है की उनकी आवाज मेरे कमरे मे आती है, एक दिन रात को जब मै अपने कमरे मै बैठा पड रहा था तो मुझे मौसी के कमरे से धीमी धीमी आवाजे आने लगी तो मे तुरंत उठकर खीडकी के पास गया और गोर से आवाज सुन्ऩे लगा और ये आवाज मौसी के कराहरने की थी क्योकि मेरे मौसा जी मेरी मौसी की चुत मार रहें थे.

और मौसी के मुहं से आंह..आई..ईईई.. ऊफ..इस की आवाजें आ रही थी और बीच-बीच मे मौसी मौसा जी को गाली भी दे रही थी कह रही थी की ओ रंडी के फाडदे मेरी चुत अपने इस छोटे लंड से आज तो काडदे मेरी चुत का पानी, (उस दिन मुझे पता चला के मेरे मौसा जी का लंड बहुत छोटा है).

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : लंड पिपासु औरत के घर ट्यूशन पढ़ाने गया

फिर मौसा जी ने मौसी की चुत में अपने लंड की पिचकारी छोड दी और निडाल होकर मौसी के ऊपर ही लेट गये और फिर मैने सुना की मौसी मौसा जी को गाली देकर कह रही थी की भोसडीके गंडवे खुद तो तु रोज 2 मिनट में छड जाता है और रोज मेरी चुत को तडपते हुए छोड देता है और मौसी ने मौसा जी को अपने उपर से धक्का दिया और कमरे का दरवाजा खोलकर बाहर आ गई.

फिर मै भी अपना गेट खोलकर चुपके से निचे गया और जिन्ने पर जाकर चुपके से देखने लगा और मैने देखा की मेरी मौसी के हाथ मे एक मोमबत्ती है और मौसी मोमबत्ती को लेकर बरामदे मे बैठ गई, चुकी मौसी पहले से ही नंगी थी तो उन्होने अपनी दोनो टांगे खोली और मोमबत्ती को अपनी चुत मे उतार दी.

(अंधेरा होने के कारण मुझे मौसी की चुत साफ नही दिखाई दे रही थी) फिर मौसी मोमबत्ती को अपनी चुत मे धीरे-धीरे आगे पीछे करती रही मौसी को इस हालत में देखकर मेरा तो मन कर रहा था की मै जाकर अपना लंड मौसी की चुत मे डालकर और चोद चोदकर मौसी को झाडदुं लेकिन डर भी लग रहा था.

फिर करीब 5 मिनट बाद मौसी ने अपनी गती तेज करदी और जोर से सिकारी मारकर झडने लगी और तेजी से कांपने लगी फिर शांत होकर अपनी चुत का सारा पानी चाटने लगी फिर सारा पानी चाटने के बाद उठकर कमरें मे जाकर सौ गई, अब मेरा भी लंड बहुत टाईट हो गया था.

फिर मे भी अपने कमरे मे गया और मुठ मारकर सौ गया, फिर मै अगले दिन उठा और अपनी मौसी को चोदने के बारे मे सोचने लगा अब मुझे किसी भी हालत मे अपनी मौसी की चुत को चोदना था. इस दीन के बाद मै रोज मौसी के बारें मे सोचकर मुठ मारने लगा और मौसी को चोदने के बारे मे सोंचने लगा.

फिर एक दिन मौसी ऊपर आकर हमारे बाथरूम के पास बैठकर सिल बट्टे पर मसाला पीस रही थी. फिर मै भी नहाने के लिए बाथरूम मे घूस गया और गेट लगा लिया फिर मैने सोचा कि क्यों न मौसी को यह महसुस दिलाया जाऐ कि मै चुत मारने के लिए बहुत उत्सुक हुँ, फिर मै बाथरूम मे नंगा हो गया और बाथरूम के गेट पर जाकर अपने लंड पर बहुत सारा थुक लगाकर जोर जोर से मुठ मारने लगा और फच फच कि आवाज आने लगी.

फिर मैने महसुस किया की मौसी ने मसाला पिसना बंद कर दिया है और मुठ मारने की आवाज सुन रही है फिर मै भी जोर जोर से मुठ मारने लगा और मुह से सिस्कारी मारकर झडने लगा, फिर मैने सोचा की शायद काम बन रहा है और मै जल्दि से नाहकर बाहर आ गया मैने देखा की मौसी मेरी मम्मी के पास बैठी हुई थी और मुझे देखकर हसने ली.

फिर मैने भी स्माईल दी और कपडे पहनने लगा (मै एक बात बताना तो भुल ही गया की मै और मौसी आपस मे मजाक करते रहते हैं) कपडे पहनने के बाद मैने खाना खाया और अपने रुम मे जाकर पडाई करने लगा, फिर कुछ दिन ऐसे ही बीत्ते गये, एक दिन रात को मुझे मौसी की सिस्कारीयों की आवाज आ रही थी तो मै धीरे से नीचे गया और चुप चाप देखने लगा. “Real Family Porn Story”

मैने देखा की मेरी मौसी अपनी सलवार निकालकर अपनी चुत मे दो ऊंगली एक साथ अंदर बाहर कर रही थी उनको इस हालत मे देखकर मेरा लंड खडा हो गया और मै भी अपना लंड मसलने लगा, फिर मौसी ने अचानक से मेरा नाम लिया तो मै एक दम से चोंक गया, मौसी मेरा नाम लेकर धिमी आवाज मे कह रही थी की अंकित मेरे भांजे तु ही अपनी मौसी की चुत की आग को शांत करदे तेरे मौसा जी तो कुछ नही कर पाते इसलीए तु ही आजा और डाल दे अपना लंड मेरी धधकती चुत में यह बात कहते कहते मौसी छडने लगी और शांत होकर अंदर जाकर सौ गई.

फिर मै भी खडे लंड को लेकर अपने रूम मे गया और सोचने लगा के अब तो मौसी भी मुझसे अपनी चुत फडवाना चाहती है इसलिए अब तो मौसी को चोदने का पलान बनाना पडेगा फिर मै भी मौसी के नाम की मुठ मारकर सौ गया फिर मै सुबह उठा और सोचने लगा की अगर मेरे घरवाले कुछ दिनो के लिए बाहर कही चलें जाएं तो मै मौसी को आराम से चोद सकता हुँ.

चुदाई की गरम देसी कहानी : Papa Ki Randi Beti Lund Chus Rahi Hai Papa Ka

फिर एक दिन एसा ही हुआ मेरे घर वलो ने पलान बनाया के गर्मी की छुट्टियों के लिए हम सब मामा के यहां चलते है (मेरे मामा जी शामली मे रहते है) फिर मैने सोचा की अब काम बन सकता है, मौसी को चोदने का फिर मैने बहाना बनाया के मेरा तो पेपर आने वाला है और मुझे बहुत सारा काम करना है तो मै नही जा पाऊंगा. “Real Family Porn Story”

तो मम्मी ने कहा ठीक है अंकित को छोडकर हम सब 10-15 दिनो के लिए चलते है और हम कल सुबह ही जाएगे सब मान गये और पैकिंग करके सौ गये फिर सुबह उठे और नाह कर वे चलने की तैयारी करने लगे, फिर मम्मी ने मौसी को कहा के हम तो जा रहें हैं शामली तु अंकित को खाना टाईम से दे देना ठिक है मौसी ने कहा ठीक है.

फिर मेरे घर वाले मामा के घर चले गये और उनके साथ मौसी के तीनो बच्चे भी चले गये अब घर पर मै और मौसी और मौसा जी हि बचे थे, फिर थोडी देर बाद मौसा जी आऐ और मौसी को कहने लगे की मै कुछ दिन के लिए काम करने पंजाब जा रहा हुँ, मौसी ने कहा ठीक है आराम से जाना, अब ये सब देखकर मेरे मन मे खुशी की लहर दोड रही थी.

फिर पुरा दिन ऐसे ही बीत गया की आज तो मौसी को चोदुगां ही, और शाम को करीब 8:00 बजे मैने खाना खाया और TV देखने लगा तो कुछ देर बाद मौसी ऊपर आई और आकर मेरे पास बैड पर बैठ गयी और TV देखने लगी, मैने सोचा मोका अच्छा है चौका मारदे, मौसी मुझे कहने लगी के कोई फिल्म दिखा दे पर मै तो न्युज देख रहा था.

मैने मना कर दिया हस कर फिर मौसी मुझसे रिमोट छीनने लगी पर मै भी नही दे रहा था, तो रिमोट की छीनम तानी मे मै मौसी के ऊपर आ गया क्योंकि हम घर मे दो ही थे, तो मुझे किसी का डर नही था. फिर जैसे ही मै मौसी से रिमोट छिन रहा था तो मेरी नजर मौसी की फटी हुई सिलवाल पर गई, और मैने देखा के मौसी ने निचे चड्डी नही पहन रख्खी थी. “Real Family Porn Story”

मौसी की काली चुत मुझे साफ दिखाई दे रही थी, क्या मस्त चुत लग रही थी मौसी की चुत पर एक भी बाल नही था. बिलकुल क्लिन स्विप थी, चुत देखकर मेरा लंड भी खडा हो गया, मै भी सिर्फ नेकर और बलियान मे था.अब मैने अपना लंड नेकर से बाहर निकाला और चुत पर रखकर धक्का मारा मे ही मौसी की चुत से सटा दिया.

मौसी एक दम से उछल पडी और मुझे अपने ऊपर से धक्का देकर बैठ गयी, फिर मैने पुछा क्या हुआ मौसी, मौसी ने कहा कुछ नही और ले रिमोट तु ही देखले TV फिर मैने शौचा की यही अच्छा मोका है मौसी की चुत लेने का अगर काम आज हुआ तो हुआ नही तो फिर कभी नही होगा.

फिर मैने मौसी की सिलवार की तरफ इसारा करते हुए कहा की मौसी आपकी सलवार फट रही है और मुझे आपकी काली चीकनी चुत साफ दिखाई दे रही है मौसी ने यह सुनते ही निचे देखा और अपने दोनो हाथो से अपनी चुत को डक लिया, फिर मैने हिम्मत दिखाते हुए मौसी के हाथ हटाने चालू कर दिए.

मौसी इसका विरोध कर रही थी के नही नही तु मेरा भांजा है मै ये सब तेरे साथ नही कर सकती, ये सब गलत है. मैने कहा मौसी मुझे पता है की मौसा जी आपको अच्छे से झाड नही पाते है और आप रात को तडपते हुए अपनी चुत मे रोज उंगली व मोमबत्ती देकर अपने आपको शांत करती हो और बीच बीच मे मेरा नाम भी लेती हो, मौसी ने कहा नही ये सब गलत है.

मैने कहा की मैने ये सब खुद सुना है. मौसी बोली नही अंकित किसी को पता चल जाएगा तो, बहुत बदनामी होगी हमारी, मैने कहा मौसी घर पर इस वक्त़ कोई नही, तुम्हारे और मेरे अलावा तो फिर किसी को कैसे पता चलेगा, मौसी नही नही करती रही और मैने हिम्मत सी दिखाकर मौसी की गर्दन को धीरे धीरे चुमने लगा.

मौसी इसका विरोध कर रही थी पर मै नही माना और अपने काम पर लगा रहा, करीब 5 मिनट बाद मौसी के मुह से गर्म गर्म सांसे चलने लगी, मैने शौचा की मौसी अब धीरे धीरे उत्तेजित हो रही है, अब मे समय न गवाते हुऐ अपने होटों को मौसी के होटों के पास ले गया और मौसी के होंटों को चुमने लगा. “Real Family Porn Story”

करीब 15 मिनट होंट चुमने के बाद मै मौसी की चुत के पास गया और मौसी के दोनो हाथों को उनकी फटी हुइ सलवार पर से हटाऐ और मौसी की चुत को गोर से देखने लगा क्योंकि मैने पहली बार चुत के दर्शन किये थे, क्या लग रही थी मौसी की चुत मन कर रहा था के खा जाऊ इसे.

फिर मैने अपनी जीभ मौसी की चुत पर रखी और जैसे ही मैने अपनी जीभ मौसी की चुत पर चलाई मौसी एक दम कररहाने लगी और अपनी दोनो आँखे भी बंद कर ली और लम्बी लम्बी शांसे लेने लगी, फिर मै उठा और मैने मौसी की सिलवार का नाडा खोला और सिलवार उतरने लगा मौसी ने अपनी सलवार पकड ली पर मैने जोर से खीची और सलवार को उतार दिया.

फिर ऐसे ही मैने मौसी के शुंठ को भी ऊतार दिया मौसी ने निचे ब्रा और पैंटी नही पहने थे, अब मौसी मेरे सामने पुरी नंगी बैठी थी अब मै मौसी के पास गया और उनकी दोनो टांगो को पकडकर खोलने लगा मौसी अब भी मेरा विरोध कर रही थी और कह रही थी, रहने दो अंकित ये गलत है लेकिन मै कहां मानने वाला था मेरे ऊपर तो सेक्स का भुत सवार था.

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : Devar Se Pelwane Ka Plan Banaya Garam Bhabhi Ne

मै मौसी की दोनो टांगे खोलकर उनके बीच बैठ गया और अपनी जीभ से मौसी की चुत को आराम से चाटने लगा अब मौसी का विरोध केवल नाम मात्र का ही रह गया था शायद मौसी अपनी चुत पहली बार चटवा रही थी इसलिए वो इतना आनन्द ले रही थी मौसी अपनी गांड को बार बार उठाकर अपनी चुत चटवा रही थी.

और मुह से सिसकारी भी निकाल रही थी और कह रही थी की अंकित और जोर से चाटो मेरी चुत को बहुत मजा आ रहा है मै पहली बार अपनी चुत किसी से चटवा रही हुँ, यह सुनते ही मुझमे और जोस आ गया और मैने अपनी जीभ को टाईट किया और जीभ को चुत के अंदर बाहर करने लगा फिर मौसी और तडप उठी और मौसी अपनी चुत से धक्के मारने लगी, और जोर जोर से चिल्लाने लगी आई आह आई आह ऊह ईईई आआआआ. “Real Family Porn Story”

मैने शौचा की मौसी को आज चुदाई का असली शुख दुं ताकि वह इस चुदाई को जीवन भर याद रख्खे, फिर मैने अपने दोनो हाथो से मौसी की चुत की फांको को खोला और मौसी की चुत के दाने को अपने दांतो से पकडा और जीभ से उस दाने को चाटने लगा.

मेरी इस हरकत से मौसी एक दम से चिल्लाई और पागल सी होने लगी थी, और अपनी चुत को आगे पीछे करने लगी थी और साथ ही मेरे मुह को अपनी चुत पर जोर से दबा भी रही थी और कह रही थी के अंकित बेटा तुने कहां से ऐसी चुत चाटना सीखा है बहुत मजा आ रहा है, आई आह ऊफ आईईईईईईइइइ आहहहहहह करने लगी.

फिर मैने कहा मौसी मै पहली बार किसी के साथ सेक्स कर रहा हुँ अब तक मैने सिर्फ गंदी फिल्में ही देखी है और उनही को देखकर सीखा है, और अभी तो सिर्फ सुरूवात है अभी देखो मै आपके साथ क्या क्या करता हुँ, मै मौसी की चुत के दाने को लगातार चाटता रहा फिर थोडी देर बाद मैने अपनी एक ऊंगली मौसी की चुत मे घुसा दी.

मौसी चिल्लाई और अपनी चुत को मुझसे छुडाने लगी पर मैने भी मौसी की कमर को कस के पकडा हुआ था. इसलिए मौसी कुछ नही कर पाई और कहने लगी छोड दे अंकित अपनी मौसी की चुत को इतना मजा मुझसे बरदास्त नही हो रहा है. और ये सब कहते हुए मौसी मछली की तरह तडपने लगी, मै भी लगातार मौसी की चुत को चाट रहा था, और उंगली को अंदर बाहर कर रहा था.

फिर मौसी गिडगिडाने लगी तो मैने उनकी चुत को छोड दिया, इसी बीच मौसी दो बार छड चुकी थी. और दोनो बार मैने मौसी की चुत का पानी पी लिया था. पानी नमकिन सा लग रहा था, फिर मैने मौसी को देखा मौसी पसीने से लतपत थी और लम्बी लम्बी सांसे ले रही थी.

फिर मौसी ने मुझसे कहा के अंकित तुने अपनी जिभ और उंगली से मुझे बहुत आनंद दिया है भांजे आज से मै तेरी दिवानी हुँ अब से तुम मेरे पति हो, चलो पति देव अब अपने लंड के दर्शन तो कराओ अपना नेकर उतारो मै तुम्हारा लंड देखने के लिए बेकरार हुँ, ये कहते हुए मौसी अपनी चुत को मसलने लगी, तो मैने कहा मौसी खुद ही देखलो अपने यार का लंड. “Real Family Porn Story”

फिर मौसी ने मेरे नेकर को निचे किया मेरा लंड तो पहले से ही टाईट था. तो एक दम से निकलकर मौसी के मुह पर लगा मौसी मेरे लंड को देखकर चौंक गई मेरा लंड 9 ईचं लम्बा और 3 ईचं मोटा था. मौसी मेरे लंड को हाथ मे लेकर कहने लगी हाए राम इतना मोटा लंड है. ये तो मेरी चुत की छिल्ली तक फाड देगा.

मैने कहा क्यों मौसी ऐसा लंड हि तो लंड चाहिए था तुम्हें अब इसको अपने मुह मे लो और इसे और टाईट कर दो, मौसी कहने लगी मैने आज तक तेरे मौसा का लंड मुह मे नही लिया, मुझे घिन्ऩ आती है मैने कहा मौसी अगर तुम लंड को अपने मुह में लेकर चुसोगी तो तुम्हे सेक्स करने मे डबल मजा आएगा.

मौसी ने फिर मना कर दिया मैने कहा मौसी प्लीज एक बार चुसो ना बहुत मजा आयेगा, मौसी बोली चल ठीक है. तु कहता है तो मै तेरा लंड चुस लेती हुँ मौसी अपने मुह मे मेरा लंड लेकर उसे लोलीपोप की तरह चुसने लगी और कहने लगी की अंकित वाकेई मे तुम्हारा लंड काफी बडा है.

मेरे मुह मे फस कर आ रहा है मैने कहा कोई बात नही रंडी आज तुझे इसी लंड की सैर कराता हुँ कुतीया बस तु चुप चाप से मेरा लंड चुसती जा झिनाल, फिर मौसी लगातार रंडी की तरह मेरा लंड चुसती रही उनको लंड चुसने मे बहुत मजा आ रहा था, फिर करीब 10 मिनट बाद मुझे लगा की मै अब छडने वाला तो मैने अपने हाथों से मौसी का मुह पकडा और जोर जोर से अपना लंड उनके मुह मे आगे पीछे करने लगा, मेरा लंड मौसी के गले तक आ रहा था.

मौसी के मुह से आक आक आक आक की आवाज आने लगी मौसी मेरे लंड को अपने मुह से बाहर निकालने की पुरी कोशीश करने लगी पर मै नही माना और मौसी के मुह मे धक्के मारता रहा उनकी आँखों से आंशु भी बह रहे थे लेकीन मै धक्के मारता रहा, क्योंकि मै झडने वाला था.

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : तुम्हे चोदने के लिए गरम कर रहा हूँ

फिर मै एक तम से झडने लगा और मैने अपना सारा पानी मौसी के मुह मे भर दिया, और लंड को बाहर निकाल लिया मौसी का मुह मेरे पानी से भर गया फिर भी मौसी मेरा सारा पानी गटक गटक करके पी गयी, फिर मै पुरा नंगा होकर बैड पर लेट गया और मौसी मेरे बगल मे आकर लेट गई और मेरे लंड को सहलाने लगी और कहने लगी की अंकित वाकेई मे आज सेक्स करने मे बहुत मजा आ रहा है. “Real Family Porn Story”

करीब 5 मिनट बाद मेरा लंड फिर से खडा हो गया और मौसी खडे लंड को देखकर कहने लगी की अंकित अब बर्दाश्त नही हो रहा बाड दो अपना ये 9 ईचं का लम्बा लंड मेरी चुत में ये कहते ही मै तुरन्त मौसी के ऊपर आ गया और मौसी की दोनो टांगो को खोल दिया और अपने लंड पर धुक लगाके मौसी की चुत के दाने पर रगडने लगा.

मौसी तडपने लगी और कहने लगी की अंकित अब इतना मत तडपाओ घुसा दो अपना लंड मेरी चुत में, फिर मैने अपने लंड को चुत के दाने से चुत के छेद तक रगड कर ले जाने लगा और चुत के छेद पर लंड आते ही एक जोर दार धक्का मारा तो मेरा आधा लंड मौसी की चुत मे घुस गया.

मौसी जोर से चिल्लाने लगी और मुझे अपने ऊपर से धक्का देने लगी और कहने लगी की अंकित अपना लंड मेरी चुत से बाहर निकालो तुम्हारे इस मोटे लंड से मेरी चुत फट जाएगी फिर मैने कहा चुप साली रंडी छिनाल रोज तो अपनी चुत मे उंगली करती है और आज चुदाइ हो रही है तो नखरे दिखा रही है.

फिर मैने अपने होंटो से मौसी के होंटों को कैद कर लीया और धीरे धीरे धक्के मारने लगा फिर कुछ देर बाद मैने मौसी को कस के पकडा क्योंकि मेरा लंड मौसी की चुत मे आधा ही घुसा था. तो मैने एक और जोरदार धक्का मारा तो मेरा पुरा लंड मौसी की चुत मे घुस गया फिर मौसी पुरी ताकत से मुझे धक्का देने लगी लेकिन मैने पहले से ही मौसी को जकड रख्खा था. “Real Family Porn Story”

तो मौसी मुझसे अपने आप को छुडा नही पाई, और मौसी के होंटों को भी मैने कैद कर रख्खा था, तो मौसी चिल्ला भी नही रही थी, फिर थोडी देर बाद मैने धिरे धिरे 5-6 धक्के मारे तो देखा मौसी शांत होने लगी फिर मैने मौसी की चुत को देखा तो उसमे से खुन निकल रहा था. मैने अपना लंड बाहर निकाला तो.

मौसी कहने लगी की इतना बडा लंड पहली बार चुत मे गया है तो इसलिए खुन निकल रहा है लगता है आज ही मेरी पुरी सील टुटी है. फिर मौसी ने कपडे से खुन साफ किया, और कहने लगी की अब मेरी चुत पुरी तरह से खुल गई है अब मुझे जोरों से चोदो फिर मै मौसी के ऊपर आ गया और लंड को चुत पर रखकर धक्के मारने लगा.

और मौसी सिसकारियां भरने लगी आह आह आई उफ ईई ईई आ आ आ आ, और कहने लगी की करते रहो अंकित बहुत मजा आ रहा है, मैने भी अपनी स्पीड बडा दी और पुरे कमरे मे अब फच फच फच फच की आवाज गुंज ने लगी, मै मौसी को अन्दर तक पेल रहा था और मौसी आहें भरती हुई कहने लगी अकित रंडी बना दे मुझे … पूरा लंड पेल दे मेरी चुत में.

मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से लंड चुत में पेलने लगा, दस मिनट की चुदाई में मासी की चूत कुछ ज्यादा ही गीली हो उठी थी. हम दोनों मस्ती भरी सिसकारियां लेते हुए चुदाई का मजा ले रहे थे मौसी एक बार झड़ चुकी थीं लेकिन मैं लगा रहा दस मिनट मौसी की चुत ताबड़तोड़ चोदने के बाद मैने मौसी को कहा चल रंडी कुतीया अब डॉगी स्टाइल में बैड पर झुक जा.

मौसी बैड पर कुतीया बन गयी और मै मौसी की गुलाबी चूत देख कर मेरा लंड फड़फड़ाने लगा. मैंने जल्दी से उनकी चुत में अपना लंड लगा कर अंदर पेल दिया. उनके मुंह से जोर की चीख निकली- आह्ह… और कहने लगी आराम से कर रंडी के, मैंने अपने लंड को निकाला और उस पर थोड़ा थूक लगा कर फिर से मौसी की चूत में जोर दार धक्का मारा, अब मौसी को ज्यादा दर्द नहीं हुआ.

मैंने मौसी की चुदाई शुरू कर दी कुछ ही देर में मौसी के मुंह से आह्ह … आह्ह की आवाजें आने लगीं. उनको इस तरह से कामुक सिसकारियां लेते हुए देख कर मेरी रफ्तार और बढ़ गई. उनकी चूत की चुदाई मैं अब और तेजी के साथ करने लगा मौसी अब दुसरी बार भी झडने लगी और छडती हुइ तडप ने लगी करिब दस मिनट बाद मै झडने वाला था तो मै मौसी के ऊपर ही गिर गया. “Real Family Porn Story”

मेरी सांसें तेज़ चल रही थीं. मेरा लंड मासी की चुत में बहने लगा था. मौसी की चुत मेरे वीर्य से लबालब भर गई. अब हम दोनो बैड पर आराम से लेट गये मौसी मेरे ऊपर आकर मेरे कान में बोलीं- आज से पहले मैं ऐसी कभी नहीं चुदी … तू सच में बहुत मस्त मर्द है. हम दोनों दस मिनट तक यूं ही एक दूसरे से नंगे ही चिपक कर चूमाचाटी करते रहे.

इस तरह से मेरा लंड अब पूरे तनाव में आ गया और एक बार फिर से मौसी के मुँह से चुदाई की मधुर लहरियां गूंजने लगीं और गली भी निकलने लगी- अह अह अंकित … मेरे राजा.. रंडी के भडवे मौसी चौद… मस्त लंड है तेरा मजा आ गया. मौसी की कामुक आवाजें और गाली मेरी उत्तेजना बढ़ा रही थीं.

मैंने भी अपने हाथ मासी की गांड पर रख दिए और उन्हें पकड़ कर चुदाई में उनकी मदद करने लगा और गाली देने लगा ले साली रंडी कुतीया छिनाल कुद मेरे लंड पर जोर जोर से कुद बनादे आज अपनी चुत का भोसडा और मौसी की बड़ी सी गांड को मैं थप्पड़ भी मार रहा था, जिससे मौसी मजे में ‘अह अह आई आई करके सिसकारियां भर रही थीं.

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : Chut Fad Chudai Ki 2 Mechanic Ne Milkar Meri

दस मिनट तक चुदने के बाद मौसी थक गईं और मेरे लंड के ऊपर से उठ गईं. मैंने उन्हें अपने नीचे ले लिया और अपने लंड पर थुक लगा के धकापेल चुदाई चालू कर दी. इस दौरान मासी एक बार झड़ गई थीं. लेकिन मैं अभी भी नहीं झड़ा था. कुछ देर बाद मैंने मौसी को उल्टा लेटा दिया और उनकी पीठ को चूमने लगा. चूमते चूमते मैं उनकी गांड तक आ गया. “Real Family Porn Story”

मैं मौसी के बड़े बड़े चूतड़ों को चूमने लगा, उन पर झापड़ मारने लगा. उनकी गुदाज गांड को नौंचने लगा. मौसी की मादक सिसकारियों से मेरी उत्तेजना बढ़ती ही जा रही थी. मैंने मौसी को गांड ऊपर करने को कहा. मासी ने तुरंत गांड ऊपर कर दी. मैंने पीछे से अपना लंड मासी के चूत में डाल दिया और उनकी कमर पकड़ कर अपनी तरफ खींचा तो लंड अन्दर घुस गया. “Real Family Porn Story”

मौसी दर्द से कराह उठीं. लंड पूरा अन्दर जाने लगा, मैं बेदर्दी से पूरे लंड को मौसी की चूत में जड़ तक पेल रहा था. मौसी भी मजे लेकर बोल रही थीं- आह मेरे राजा … और जोर से पेल … आह चुत का भोसड़ा बना दे. मैंने करीब पंद्रह मिनट ऐसे ही धकापेल लंड पेलता रहा.

फिर मौसी चिल्लाने लगी आई आई आह आह और कहने लगी अंकित मै झडने वाली हुँ मैने भी कहा मौसी मेरा भी होने वाला है और हम दोनो एक साथ छड गए. हम दोनों दो बार की चुदाई में काफी थक गए थे इसलिए ऐसे ही नंगे लेटे रहे, कुछ देर बाद मोसी बोली अंकित मेरे यार आज तुने मेरी चुत को पुरा निचोड दिया है.

और मेरे लंड को पकड कर कहने लगी की बहुत दम है इस लंड मे मेरे राजा और आज से तुम जब चाहो मेरी चुत चोद सकते हों, तुम्हारे लिए मेरी चुत के दरवाजे हमेशा के लिए खुले हैं. फिर मैने भी मौसी की चुत मे ऊगली सरकाकर बोला की मेरी जान तुम्हारी चुत भी बहुत मजेदार है बहुत आग है इसमे.

फिर हम दोनो एक दुसरे के होंट चुसते रहे मेरा लंड फिर से खडा हो गया और मैने अपना लंड मौसी की चुत मे घुसाकर सो गया और मौसी भी सो गई, मौसी सुबह 7:00 बजे उठी और उन्होंने चुत मे से लंड निकाला कपडे पहने और चली गई, मै सोता रहा मेरी आँख करिब 10:00 बजे खुली और कपडे पहनकर मौसी के पास गया, मौसी झाडु लगा रही थी और मैने देखा मौसी लंगडा कर चल रही है, मैने पुछा मौसी क्या हुआ तुम लंगडा कर क्यों चल रही हो, मौसी हस कर बोली ये तुम्हारे लंड का कमाल है, जिसने मेरी चाल ही बदल दी, और हम दोनो हसने लगे.

दोस्तों आपको ये Real Family Porn Story मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे……………..

[ad_2]

Leave a Reply